Vijaya Ekadashi 2019 विजया एकादशी कराती है विजय की प्राप्ति


विजया एकादशी कराती है विजय की प्राप्ति

फाल्गुन कृष्ण पक्ष को विजया एकादशी मनाई जाएगी। इस बार यह 2 मार्च २०१९ यानी आज मनाई जा रही है। इस दिन हर काम में सफलता मिलती है। कहा जाता है कि इसी दिन भगवान श्री राम ने समुद्र किनारे पूजा की थी। राम जी ने समुद्र पार करके लंका पर विजय हासिल की थी।

भगवान विष्णु के साथ माता लक्ष्मी की पूजा भी करें जरूर। इससे वे बहुत जल्द खुश होती हैं। शाम को पूजा करें तो भगवान विष्णु के नाम का 108 बार जप करें और साथ में माता लक्ष्मी का भी 108 जप करें। इसके बाद उनका प्रभु का धयान करे । उनसे अपनी समस्या कहे, आपकी समस्या धीरे-धीरे खत्म हो जाएगी।

ओम नमो भगवते वासुदेवाय

पीपल के वृक्ष में भगवान विष्णु का वास होता है। यदि आप एकादशी के दिन आप पीपल के वृक्ष की पूजा कर दीप जलाते हैं तो निश्चित रूप से आपको फायदा होगा, यह कर्ज से मुक्ति के लिए श्रेष्ठ उपाय बताया गया है।

तुलसी की पत्ती भी भगवान विष्णु की प्रिय बतायी गई है। यदि आप एकादशी के दिन भगवान श्रीहरि विष्णु के प्रसाद अर्थात खीर, पंचामृत आदि में तुलसी की पत्ती अवश्य डालें। बाद में यही प्रसाद सभी को वितरित करें। यह आपकी घरेलू कलह को दूर करेगा।

पीले फूल विष्णु प्रिय माने गए हैं अतः एकादशी पर विशेषरूप से विष्णु भगवान को पीले फूल अर्पित करें। इससे आपकी समस्त मनोकामनाएं अवश्य ही पूर्ण होंगी।

पीले रंग के वस्त्र, भोजन इत्यादि का दान भी इस दिन गरीबों को किया जा सकता है। ये भी सुख समृद्धि के लिए अति श्रेष्ठ बताया गया है। दान करने से पूर्व इन्हें भगवान विष्णु काे अवश्य ही अर्पित करें। इससे आपके दान का पुण्य दोगुना हो जाएगा।

गाय के घी का दीपक तुलसी के समक्ष संध्याकाल में एकादशी के दिन जलाएं। ऐसा करने से परिवार में सुख शांति आएगी। भगवान विष्णु आपकी सभी समस्याओं का शीघ्र ही निदान का मार्ग आपको अवश्य ही दिखाएंगे। विजया एकादशी व्रत के दिन ये उपाय बेहद उपयोगी सिद्ध होते हैं।

Vijaya Ekadashi is the achievement of victory

Falgun Krishna Paksha will be celebrated Vijaya Ekadashi. This time it is being celebrated today ie March 2, 2019. This work gets success every day. It is said that Lord Rama had worshiped on the sea the same day. Ram Ji had overcome the sea and conquered Lanka.

Pooja of Mata Lakshmi with Lord Vishnu definitely. They are happy with it very soon. If you worship in the evening, chant the name of Lord Vishnu 108 times.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *